Breaking

Friday, January 4, 2019

सोशल मीडिया को सुरक्षित बनाने के लिए IT मिनिस्ट्री 5 जनवरी को करेंगे बैठक !


ड्राफ्ट आईटी इंटरमीडियटरी रुल्स 2018 पर मिली आलोचना के बाद आईटी मंत्रालय ने सभी स्टेक होल्डर्स के साथ 5 जनवरी को बैठक बुलाई है| जिसमें यह तय होगा कि सोशल मीडिया को किस तरह से इस्तेमाल के लिए सुरक्षित बनाया जा सकता है| दरअसल, सरकार ने सूचना प्रौद्योगिकी (आईटी) अधिनियम, 2000 की धारा 79 में संशोधन करने के लिए इस बैठक बुलाई है, जिसमें वॉट्सऐप, फेसबुक और गूगल जैसे सोशल मीडिया प्लेटफार्मों को 72 घंटों के भीतर सूचना और सहायता प्रदान करने में अपनी दिशा का पालन करना होगा|

सरकार ने सोशल मीडिया के इस्तेमाल को लेकर चल रही चर्चाओं के बीच आईटी एक्ट में संशोधन का प्रस्ताव रखा था| इसको लेकर मंत्रालय ने 24 दिसंबर को संशोधन विधेयक का मसौदा भी चर्चा के लिए जारी किया था, जिसपर 15 जनवरी तक राय मांगी गई है| आईटी नियमों में प्रस्तावित के मुताबिक सोशल मीडिया की सभी कंपनियों को ऑटोमेटेड सिस्टम स्थापित करना होगा, जिससे अनचाहे मैसेजेज को प्रसारित होने से रोका जा सके इसके अलावा सभी कंपनियों को नोडल ऑफिसर की नियुक्ति करनी होगी|

इस ड्राफ्ट के मुताबिक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स को टेक्नोलॉजी पर आधारित ऐसे टूल्स या मैकेनिज्म स्थापित करना होगा, जिससे फेक न्यूज़ फैलाने वाले मैसेज की पहचान कर उन्हें रोका जा सके|

No comments:

Post a Comment