Breaking

Monday, January 14, 2019

Jio Tower लगवाने के नाम पर लाखों रूपये का लगाया जा रहा है चूना, आप भी फंस सकते हैं

दोस्तों, दुनिया में जिस भी चीज की मांग सबसे ज्यादा होती है उसी के नाम पर सबसे ज्यादा धोखाधड़ी सबसे ज्यादा किया जाता है| क्योंकि उसे पाने के लिए बेताब रहते हैं, जिसके वजह से यह नहीं समझ पाते हैं कि वह चीज सही है या गलत| भारत की सबसे बड़ी टेलिकॉम जिओ के नाम पर खूब धोखाधड़ी की जा रही है| खास बात यह है कि जिओ के नाम पर जिओ टावर को लेकर धोखाधड़ी हो रही है इसके लिए वे लोग ऑफिसियल वेबसाइट बना लेते हैं| बता दें कि जिओ के टावर लगवाने के नाम पर 25 से 30 लाख रूपये तक ठगा जा रहा है और लोगो से जिओ टावर के नाम से खूब चुना लगाया जा रहा है|

दोस्तों, इस समय भारत में सबसे ज्यादा जिओ टावर को सर्च करते हैं लेकिन इस बात से वह अंजन होते हैं कि वह जिओ टावर को सर्च कर जिस वेबसाइट के लिंक पर क्लिक करते हैं वह धोखेबाजो वाली वेबसाइट है| उन वेबसाइट के द्वारा लोगो को बताया जाता है कि जिओ टावर लगवाने के बदले वह उन्हें 15 हजार से 20 हजार महीने के किराये के तौर पर देंगे| इसके लिए वे एडवांस में ही 10 से 15 लाख ले लेते हैं उनका कहना होता है कि यह सिक्यूरिटी का नाम से है| लेकिन उन्हें पता नहीं कि उनका यह पैसा पानी में डूबने वाला है|

जियो टावर के नाम पर लोगों से पैसे लूटने वाली ये वेबसाइट्स कुछ इस तरह हैं| www.jiotowerinstallation.in, jiotower.org.in, https://www.industowers.com/our-portfolio/reliance-jio/, https://reliancejiotoweronline.com/ , JioTowerInstallation.in., इन वेबसाइट्स के अलावा इंडियामार्ट वेबसाइट पर जियो टावर के नाम पर ठगी करने वाले बैठे हैं|

खास बात यह है कि इन वेबसाइट को पढ़े-लिखे लोग चला रहे हैं जो तकनीकी तौर पर भी मजबूत हैं, क्योंकि ये सभी वेबसाइट वेब सिक्योर हैं| वेबसाइट्स के अलावा ये ठग लोगों को फोन कर रहे हैं और रिलायंस जियो का 4जी टावर लगवाने का ऑफर दे रहे हैं| लोगों से यहां तक कहा जा रहा है कि आपको लॉटरी लगी है और आप जियो का टावर अपनी खाली जमीन या छत पर लगवा लें|

जियो टावर के नाम पर मध्य प्रदेश के अनिल सिंह भदौरिया को 10 लाख रुपये का चूना लगाया गया है| अनिल से व्हाट्सऐप के जरिए जरूरी कागजात भी मांगे गए| वहीं प्रयागराज के मधुबन बिहारी शर्मा को किसी ने फोन पर कहा था कि टावर लगवाने के बदले उन्हें हर महीने 25,000 रुपये मिलेंगे, लेकिन एडवांस में 15 लाख रुपये जमा करने होंगे|

इसके बाद उनसे प्रोसेसिंग फीस के तौर पर 14,500 रुपये भी मांगे गए| कुछ दिन पर शर्मा से 52,500 रुपये मांगे गए, लेकिन उन्होंने पैसे नहीं दिए और यही उन्हें फर्जीवाड़े का अहसास हुआ| वहीं जियो ने इस मामले पर कुछ भी कहने से साफ मना कर दिया है| बता दें कि टावर लगवाने के लिए सरकार की ओर से नोटिफिकेशन जारी होता है| इसलिए अगर आपके पास ऐसा कोई कॉल या वेबसाइट दिखे तो फंसे नहीं, बाकि आपकी मर्जी|

No comments:

Post a Comment