Breaking

Wednesday, February 27, 2019

पाकिस्तान में आतंकी ठिकानों पर बम गिराते समय प्रधानमंत्री नरेन्द्र कहाँ और क्या कर रहे थे ?

पुलवामा हमले के बाद पाकिस्तान को करारा जवाब देने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की व्याकुलता मंगलवार को करारा जवाब देने के बाद जाकर खत्म हुई जब भारतीय वायुसेना के जांबाज पायलट पाकिस्तान में घुसकर आतंकियों के निर्धारित ठिकानों को ध्वस्त कर वापस लौट आए| इससे पहले वह रात भर ऑपरेशन की तैयारियों और उसे सकुशल अंजाम देने की रणनीति जुटे रहे| वह सोने भी तभी गए, जब उन्हें मिशन पूरा होने की जानकारी दी गई| इसी में अब सवाल यह है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी आतंकवादों को बम गिराने के समय कहां थे और वह उस समय क्या कर रहे थे|

सूत्रों के मुताबिक मोदी की सक्रियता यहीं नहीं थमी| ऑपरेशन पूरा होने के कुछ ही घंटों के बाद उन्होंने फिर से मोर्चा संभाला| सुबह दस बजे ही अपने लोक कल्याण मार्ग स्थित आवास पर सुरक्षा मामलों की कैबिनेट कमेटी की बैठक बुलाई| इसमें गृह मंत्री राजनाथ सिंह, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, वित्त मंत्री अरुण जेटली और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल मौजूद थे|


पाकिस्तान पर कार्रवाई अपनी देखरेख में कराने के बावजूद उन्होंने अपने पूर्वनिर्धारित अन्य कार्यक्रमों में कोई तब्दीली नहीं की किया| इसके बाद वह सीधे राष्ट्रपति भवन गए जहां राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद वर्ष 2015-18 के गांधी शांति पुरस्कारों का वितरण कर रहे थे| इसके तुरंत बाद वायु मार्ग से राजस्थान में चुनावी रैली करने गए| वहां से लौटे तो दिल्ली मेट्रो में सफर करते हुए दिल्ली स्थित इस्कॉन मंदिर में एक कार्यक्रम में शामिल हुए बाद में उन्होंने तीनों सेनाओं के कमांडरों से भी बातचीत की|

सूत्रों ने बताया कि इस मामलों में प्रधानमंत्री बिना पलक झपकाए सारी रात जागते रहे और दिन भर कार्रवाई पर सेनाओं के साथ ही अन्य कार्यक्रमों में व्यस्त रहे| हालांकि इससे पहले, सोमवार की शाम को एक निजी टीवी चैनल के कार्यक्रम में हिस्सा लेने के बाद वह रात करीब 9.30 बजे अपने आवास पर पहुंचे| जहां थोड़ा हल्का भोजन लेने के बाद वह ऑपरेशन की तैयारियों में जुट गए थे|
तीनों सेना के कमांडरों ने की मोदी से मुलाकात

भारतीय वायुसेना के विमानों के पाकिस्तान में हवाई हमले के बाद देश के सुरक्षा हालात पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से तीनों सेनाओं के प्रमुखों से आधे घंटे की मुलाकात की| उन्होंने पीएम को पाकिस्तान के जवाबी कार्रवाई करने की सूरत में भारत की तैयारियों का ब्योरा दिया| उस दौरान मंगलवार की शाम को मोदी ने तीनों सेनाओं के प्रमुखों, खासकर वायुसेना प्रमुख एयरचीफ मार्शल बीएस धनोवा को सफल सैन्य कार्रवाई के लिए बधाई दी|

इसके अलावा, सूत्रों के मुताबिक थलसेना, नौसेना और वायुसेना के प्रमुखों ने सीमा पर सुरक्षा के हालात को लेकर एनएसए अजीत डोभाल को भी अलग से जानकारी दी| यह बैठक पाकिस्तान के जवाबी कार्रवाई की धमकी के बाद अलग से की गई|

No comments:

Post a Comment