Breaking

Monday, April 15, 2019

अगर आपको लैपटॉप या स्मार्टफोन की है चिंता, तो इन 4 बातों को नहीं करें नज़रअंदाज़

दोस्तों, आपने अपने लैपटॉप, स्मार्टफोन या टैबलेट में VPN और सिक्योरिटी सॉफ्टवेयर इंस्टॉल जरूर किया होगा| यदि आप चाहते हैं कि वे आपकी डिवाइस का ख्याल रखें, तो आपको उनका भी ख्याल रखना होगा| आप इस तरह अपनी डिवाइस और सिक्योरिटी को दुरुस्त रख सकते हैं|

एंटीवायरस को अपडेट रखें : आप अपने डाटाबेस को खोलकर देखिए कि उसमें कोई अपडेट मैसेज है या नहीं| यदि आपको मैसेज नहीं दिखता है, तो मैनुअल तरीके से अपडेट के लिए चेक कीजिए| अपने सभी सिक्योरिटी प्रोडक्टस को अपडेट के लिए चेक करके उन्हें अपडेट कीजिए| आपकी जागरुकता के अलावा यही एक चीज है, जो आपकी डिवाइस को हैकर्स के खतरे से सुरक्षित रख सकती है|

टेक विडियो देखने के लिए 'Tricky Onkar' Youtube चैनेल को सब्सक्राइब करें|

एंटीवायरस को टेस्ट करें : आपको कैसे पता चलेगा कि आपका एंटीवायरस काम कर रहा है? आप अपनी डिवाइस की प्रोटेक्शन चेक करने के लिए एंटी-मैलवेयर टेस्टिंग स्टैंडर्ड ऑर्गेनाइजेशन की वेबसाइट पर जाकर सिक्योरिटी फीचर्स चेक कीजिए| यहां अलग-अलग टेस्ट को रन कीजिए, जो मैलवेयर प्रोटेक्शन के खिलाफ कई पहलूओं की जांच करते हैं|

टेक विडियो देखने के लिए 'Tricky Onkar' Youtube चैनेल को सब्सक्राइब करें|

वीपीएन को करें वेरिफाई : VPN (वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क) आपके सामान्य इंटरनेट कनेक्शन को एनक्रिप्टेड कनेक्शन में बदलकर उसकी सुरक्षा करता है| आप इस चीज की जांच कर सकते हैं कि कहीं आपका VPN लीक तो नहीं हो रहा है| अपने VPN को ऑन कीजिए और अपना असल IP देखने के लिए 'व्हाट इज माई आईपी' सर्च कीजिए| अब वीपीएन को कनेक्ट कीजिए, फिर से सर्च कीजिए। आपको एक अलग आईपी एड्रेस दिखेगा| टेक विडियो देखने के लिए 'Tricky Onkar' Youtube चैनेल को सब्सक्राइब करें|

मोबाइल डिवाइसेज की जांच : सिक्योरिटी के लिहाज से एपल ने अपनी डिवाइसेज को एंड्रॉयड के मुकाबले बेहतर बनाया है| हालांकि, सामान्य एंड्रॉयड डिवाइसेज इतनी ज्यादा सिक्योर नहीं होती हैं| सामान्य एंड्रॉयड सिक्योरिटी टूल मैलवेयर और एंटीथेप्ट फीचर्स, दोनों को ऑफर करता है|

No comments:

Post a Comment