Breaking

Wednesday, May 1, 2019

अगर आप प्लास्टिक Aadhar Card का करते हैं उपयोग तो रहें सावधान !

दोस्तों, अगर आप प्लास्टिक का आधार कार्ड बनाने जा रहे हैं या बनवाने की सोच रहे हैं तो यह खबर आपके लिए जरुरी है| यूनीक आइडेंटिफिकेशन अथॉरिटी ऑफ इंडिया ने पिछले साल एक बयान जारी कर प्लास्टिक आधार कार्ड को लेकर चेताया था| अब अथॉरिटी ने फिर से इस संबंध में एक ट्वीट कर चेतावनी दी है| UIDAI का कहना है कि अगर आप अब भी प्लास्टिक आधार कार्ड, जिसे स्मार्ट आधार कार्ड भी कहते हैं, इस्तेमाल कर रहे हैं तो सावधान हो जाएं क्योंकि यह मान्य नहीं है| दरअसल, प्लास्टिक आधार कार्ड के कई नुकसान हैं| उसके बदले में अगर आप एक सादे कागज पर भी अपना आधार कार्ड प्रिंट करवाते हैं तो वो भी मान्य होगा|
क्यों मान्य नहीं है प्लास्टिक आधार कार्ड?

टेक विडियो देखने के लिए 'Tricky Onkar' Youtube चैनेल को सब्सक्राइब करें|

UIDAI ने प्‍लास्टिक आधार कार्ड के नुकसान बताते हुए इसे डिटेल्स की प्राइवेसी पर खतरा बताया था| आधार में मौजूद आपकी पर्सनल डिटेल्‍स के बिना आपकी अनुमति के शेयर किए जाने का भी खतरा है साथ ही इसके चलते फंक्शनल परेशानियां भी आती हैं| UIDAI ने अपने बयान के मिताबिक प्लास्टिक आधार कार्ड कई बार काम नहीं करता है| इसकी वजह है कि प्‍लास्टिक आधार की अनऑथराइज्‍ड प्रिन्टिंग के चलते QR कोड डिस्‍फंक्‍शनल हो जाता है|


प्लास्टिक आधार कार्ड या स्मार्ट आधार कार्ड बनवाना का गैरजरूरी खर्चा भी है| प्‍लास्टिक या पीवीसी शीट पर आधार की प्रिन्टिंग के नाम पर लोगों से 50 रुपये से लेकर 300 रुपये तक वसूला जाता है, जबकि ये पूरी तरह से गैरजरूरी है न आपको कलर्ड स्मार्ट कार्ड की जरूरत है न ही इसे लेमिनेट कराने की| UIDAI का कहना है बेकार प्लास्टिक आधार कार्ड बनवाने के बजाए अगर आप एक सादे कागज पर भी अपना आधार छपवाते हैं तो वो भी मान्य होगा और आपका mAadhar भी पूरी तरह से वैलिड होगा|

No comments:

Post a Comment