Breaking

Wednesday, June 19, 2019

सरकार ने तैयार किया नया प्लान, अब आसानी से मिल जायेगा आपका चोरी हुआ फोन

दोस्तों, आजकल हम कभी भी भीड़भाड़ वाली जगह पर घुमने जाते हैं तो हमें एक ही बात का डर काफी ज्यादा रहता है कि कही हमारा स्मार्टफोन कोई हमारे पॉकेट से निकल न लें| क्योंकि भीड़भाड़ वाली जगह पर ही पॉकेट मारने वाले लोग घूमते रहते हैं और वे इसी मौके के चक्कर में रहते हैं कि कोई मुर्गा ऐसा मिल जाये जिसका स्मार्टफोन जल्दी से चोरी करके वहां से निकल जाएँ| हमारे स्मार्टफोन में हमारा पर्सनल डाटा, डॉक्यूमेंट और इमेज जैसी कई महत्वपूर्ण डाटा सेव रहता है फोन चोरी हों इसे ज्यादा इसी वजह से टेंशन रहता है| कई बार हम पुलिस के पास शिकायत भी करते हैं तब भी हमारा स्मार्टफोन नहीं मिल पाता है| लेकिन सरकार ने एक ऐसा कदम उठाया है, जिसकी मदद से चोरी हुआ फोन आसानी से मिल सकेगा|
देश के सभी फोन्स का तैयार किया जायेगा डाटा बेस

कमाल का है यह मोबाइल अर्निंग ऐप, मोबाइल से कमाई का है बेस्ट तरीका

इसके लिए दूरसंचार विभाग ने देश के सभी मोबाइल फोन्स का डेटाबेस तैयार किया है जिसे सेंट्रल इक्विपमेंट आइडेंटिटी रजिस्टर का नाम दिया गया है| इसमें देश के सभी मोबाइल फोन्स का IMEI नंबर रजिस्टर किया गया है| अगर आपका फोन चोरी हो जाता है तो पुलिस में शिकायत करने के बाद यहां से आपका फोन ब्लॉक कर दिया जाएगा, फिर वह किसी भी ऑपरेटर के नेटवर्क पर काम नहीं करेगा| इस डेटाबेस की वजह से पुलिस को भी यह फोन खोजने में आसानी हो जाएगी| देश में कहीं भी इसका प्रयोग किया जा रहा हो पुलिस आसानी से इसे खोज निकालेगी|
एक से दो हफ्तों में हो सकता है लॉन्च


सबसे पहले इसका ट्रायल महाराष्ट्र सर्किल में किया गया, जहां यह काफी सफल रहा| इसे देखते हुए दूरसंचार अब इसे पूरे देश में लागू करने की सोच रहा है| दूरसंचार केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद एक से दो हफ्तों के अंदर इसे लॉन्च कर सकते हैं| इसी के साथ सरकार ने फोन का IMEI बदलने पर तीन साल की सज़ा का प्रावधान भी कर रखा है| इसके बावजूद अगर कोई फोन का IMEI बदलता है तो उसे भी ब्लॉक कर दिया जाएगा| कुल मिलाकर किसी भी हालत में चोरी किए हुए फोन को शिकायत दर्ज करने के बाद यूज़ नहीं किया जा सकेगा|

No comments:

Post a Comment