Tuesday, April 14, 2020

कोरोना संकट : क्या है जरुरी लॉक डाउन या अर्थव्यवस्था ?

आज पूरी दुनिया कोरोना वायरस का शिकार बन गया है, जिसके वजह से लाखों लोगों की जानें भी गयी है| कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए हमारे देश में लॉक डाउन कानून लागू किया गया और यह लॉक डाउन के 21 दिन भी आज पुरे हो गए हैं लेकिन कोरोना के संक्रमण की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है| अब उम्मीद की जा रही है कि क्या अब देश में फिर भी लॉक डाउन लागू किया जायेगा| अगर फिर से लॉक डाउन जारी रहता है तो तो हमारे देश की अर्थव्यवस्था पर संकट आ जायेगा| ऐसे में अब बात आती है कि अब क्या जरुरी है जान या जहान दोनों में से क्या जरुरी है|
लॉक डाउन 2 देशभर में कितना जरुरी है ?

आपको याद दिला दें कि आज से 21 दिन पहले यानि जनता कर्फ्यू लगाया गया था तब भारत में 200 से 300 के लगभग ही कोरोना के मरीज पाए गए हैं लेकिन आज लॉक डाउन लगने के बावजूद 21 दिनों में 9,352 लोगों में कोरोना संक्रमित पोजेटिव पाए गए| यह आकड़ा अभी भी लगातार बढ़ती जा रही है| ऐसे में अब पुनः लॉक डाउन और हॉटस्पॉट एरिया में सील किया जायेगा तभी इसे कंट्रोल में लाया जा सकता है|
लॉक डाउन के वजह से अर्थव्यवस्था पर आएगा संकट

लॉक डाउन लगने के वजह से हर प्रकार का काम बंद हो गया है, अभी के समय में सिर्फ वही कार्य हो रहा है, जो ऑनलाइन के जरिये किया जाता है| आज सभी लोग घर पर ही रहकर अपना काम संभल रहे हैं| लॉक डाउन के वजह से अर्थव्यवस्था चौपट होता जा रहा है ऐसे में अर्थव्यवस्था को बचाना है तो लॉक डाउन हटाना होगा और अगर लॉक डाउन हटता है तो कोरोना से संक्रमित लोगों की संख्या हर दिन दुगुनी होती चली जायेगा और इस मामले को संभल पाना मुश्किल हो जायेगा|

No comments:

Post a Comment