Showing posts with label फ्रॉड IN SBI. Show all posts
Showing posts with label फ्रॉड IN SBI. Show all posts

Friday, May 22, 2020

बस एक गलती से खाली हो जायेगा आपका बैंक अकाउंट, यह है बचने का तरीका


आज लॉकडाउन के बिच ऑनलाइन धोखाधड़ी के मामले भी काफी ज्यादा सामने आने लेगे हैं, ऐसे में स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया (SBI) ने ऑनलाइन धोखाधड़ी से बचने के तरीकों के बारे में बताया है| क्योंकि इस लॉकडाउन के अगर आपकी किसी छोटी सी गलती से अपना बैंक अकाउंट खाली हो जाता है तो आप कहीं के नहीं रहेंगे| चलिए ऑनलाइन के धोखाधड़ी से बचने के कुछ टिप्स के बारे में जानते हैं|
SBI ने ट्विटर के जरिये अपने ग्राहकों को किया अलर्ट
SBI ने अपने ट्वीट में लिखा कि क्या आप ऑनलाइन धोखाधड़ी करने वाले स्कैमर के बारे में जानते हैं? ये स्कैमर कॉल के जरिए ग्राहक से उनकी निजी जानकारी लेकर उनके बैंक खाते से सारे पैसे लूट लेते हैं और वो भी सिर्फ ऐप के जरिए| लेकिन आपको डरने या घबराने की जरुरत नहीं है| बस सतर्क रहने की जरुरत है|
ऑनलाइन फ्रॉड वाले इस तरीके से बनाते हैं आपका शिकार
धोखेबाज लोग आसानी से किसी को भी अपनी ओर आकर्षित कर लेते हैं क्योंकि जालसाज ग्राहकों को बैंक अधिकारी बनकर कॉल करते हैं और उनसे एक ऐप डाउनलोड करा लेते हैं| इसके बाद उन्हें ग्राहक की मोबाइल स्क्रीन का रिमोट ऐक्सेस मिल जाता है यानी वे दूर बैठकर ही आपके फोन की स्क्रीन को देख लेते हैं| वे आपसे पूछी गई डीटेल्स का इस्तेमाल करके बैंक अकाउंट को खाली कर देते हैं|
SBI ने बताया क्या न करें ?

1. ग्राहकों को किसी भी कॉल, ईमेल, एसएमएस या वेब लिंक के जरिए अपनी निजी जानकारी नहीं देनी चाहिए|
2. किसी भी कस्टमर केयर नंबर को गूगल पर सर्च न करें| बेहतर होगा आधिकारिक वेबसाइट पर ढूंढे|
3. किसी भी ऐसे ऐप को डाउनलोड न करें जो वेरिफाई ना हो|
ऑनलाइन धोखाधड़ी से बचने के लिए करें यह काम

1. एसबीआई बैंक से जुड़ी किसी भी जानकारी के लिए https://bank.sbi/ पर जाएं|
2. हमेशा एसबीआई के वेरिफाइड ऐप जैसे- Yono SBI, Yono Lite और Bhim SBI Pay को ही इंस्टॉल करें|
3. किसी भी प्रकार की सहायता के लिए टोल फ्री नंबर: 1800112211 या 18004253800 अथवा 080-26599990 पर संपर्क करें|
4. किसी भी लिंक या ऐप पर बिना सोचे क्लिक न करें|

Friday, May 15, 2020

SBI ने एक सन्देश लिखकर अपने ग्राहकों को किया अलर्ट, आप भी पढ़ें

देश की सबसे बड़ी बंद स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया (SBI) अपने ग्राहकों के सिक्यूरिटी का ख्याल रखते हुए हमेशा अलर्ट करते रहता है| आज ऑनलाइन के इस ज़माने के फ्रॉड के केश काफी ज्यादा आने लगे हैं| ऐसे में आज हम आपको बैंकिंग से जुड़ी कुछ सावधानियों के बारे में बताने वाले हैं, जिससे आपके सालों की जमा पूंजी बचाई जा सकती है|अगर आप SBI के भेजे गए सन्देश का पालन नहीं करेंगे तो धोखाधड़ी का शिकार बन सकते हैं|
SBI ने एक सन्देश लिखकर अपने ग्राहकों को किया अलर्ट

प्रिय ग्राहक,
यह हमारा कर्तव्य है कि हम आपको ऑनलाइन धोखाधड़ी का शिकार होने से बचाएं| यहां बांकिंग से जुड़ी कुछ सावधानियां बताई गई हैं जिनका आपको सख्ती से पालन करना चाहिए|
  • यह आवश्यक हैं कि आप मानक नियमों का पालन करें और किसी अनजान व्यक्ति से अपना पर्सनल एवं बैंकिंग विवरण साझा न करें|
  • किसी भी अनौपचारिक लिंक पर क्लिक न करें जो ईएमआई (EMI), डीबीटी (DBT), प्रधानमंत्री केयर फंड या किसी अन्य केयर फंड के लिए वन टाइम पासवर्ड (OTP) या बैंक विवरण मांगता है|
  • फर्जी योजनाओं से सावधान रहें, जो एसएमएस, ई-मेल, पत्र, फोन कॉल या विज्ञापन के माध्यम से लॉटरी, नकद पुरस्कार या नौकरी के अवसर प्रदान करने का दावा करते हैं|
  • समय-समय पर बैंक से संबंधित अपना पासवर्ड बदलते रहें|
  • कृपया ध्यान रखें कि एसबीआई के प्रतिनिधि कभी भी अपने ग्राहकों को उनकी व्यक्तिगत जानकारी, पासवर्ड, उच्च सुरक्षा पासवर्ड या ओटीपी के लिए न तो ईमेल/एसएमएस भेजते हैं और ना ही कॉल करते हैं|
  • एसबीआई से संबंधित संपर्क नबंर और अन्य विवरण के लिए केवल एसबीआई की वेबसाइट का ही उपयोग करें| इस संबंध में इंटरनेट खोज परिणामों पर उपलब्ध जानकारी पर भरोसा न करें|
  • धोखेबाजाों के बारे में स्थानीय पुलिस के अधिकारी को तुरंत रिपोर्ट करें और अपनी निकटतम एसबीआई शाखा को इसकी सूचना दें|

Saturday, April 25, 2020

SBI Alert : बैंक ने बताया ऑनलाइन ठगी से बचने के 6 जबरदस्त टिप्स

इस लॉकडाउन के वजह से अब ऑनलाइन ठगी के मामले बढ़ते जा रहे हैं| ऐसे में देश की सबसे बड़ी बैंक स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया ने अपने ग्राहकों ऑनलाइन बचने के तरीके के बारे में बताया है| बैंक ने अपने ग्राहकों को मेल भेजकर ऑनलाइन ठगी से बचने के 6 टिप्स के बारे में बताया है, तो चलिए उसके बारे में डिटेल में बताये|
किसी भी थर्डपार्टी लिंक पर क्लिक न करें

बैंक ने अपने ग्राहकों को सलाह दिया है कि वे OTP या बैंकिंग से जुड़ी जानकारी मांगने वाली किसी भी लिंक पर क्लिक न करें| ठगी ग्राहकों को EMI या प्राइम मिनिस्टर फण्ड के नाम से लिंक भेज रहे हैं और सही लिंक फर्जी लिंक बनाकर उसपर क्लिक करवा रहे हैं|
कैश जितने वाले स्कीम से रहें सावधान

नौकरी या कैश प्राइस देने का दावा करने वाली स्कीम से सावधान रहें| यह फंडा यूजर्स को फंसाने के लिए साजिश की जाती है| ऐसी चीजें ज्यादातर ईमेल, SMS, कॉल के जरिये फंसाते हैं| अगर आपसे कोई नौकरी या कैश प्राइस देने का दावा करता है तो सबसे पहले उससे मिले|
किसी को भी न बताएं यह चीजें

आप अपने इंटरनेट बैंकिंग का पासवर्ड और ट्रांजेक्शन पासवर्ड समय-समय पर बदलते रहें| इसे किसी को भी गलती से भी न बताएं| हमेशा पासवर्ड alphanumeric ही रखें, जिससे पासवर्ड किसी को पता लगाना मुश्किल हो जाये| इंटरनेट बैंकिंग पासवर्ड अगर किसी को पता चल गया तो आपका पूरा पैसा ख़त्म हो जायेगा|
OTP किसी को भी न बताएं
कई बार आपके पास बैंक के तरफ से बताकर कॉल आता होगा और उस कॉल के दौरान आपसे आपका OTP पूछा जाता होगा| अगर ऐसा कोई दिक्कत हो तो OTP किसी को शेयर न करें| यह ग्राहकों को फंसाने का सबसे पुराना तरीका है, जिससे आपका खाता साफ़ हो सकता है|
गूगल पर सर्च न करें यह डिटेल

बैंक का फोन नंबर, अड्रेस या कोई अन्य जानकारी गूगल से सर्च ना करें| इंटरनेट पर मौजूद सभी जानकारियां सही नहीं होती है| कई बार जालसाज अपने नंबर को बैंक को दिखा देते हैं और ग्राहक उनकी बातों में फंस जाते हैं| कोई भी जानकारी SBI की ऑफिशियल वेबसाइट से ही लें|
ठगी के शिकायत में देर न करें

अगर आपके साथ किसी भी तरह का बैंकिंग फ्रॉड होता है तो उसे छुपाए नहीं| बिना देरी किए तुरंत ही जालसाजों और फ्रॉड के बारे में पूरी जानकारी स्थानीय पुलिस को दें| इसके साथ ही, अपनी करीबी SBI ब्रांच को तुरंत सूचित करें|

Friday, January 3, 2020

SBI ने उठाया सख्त कदम, 10 हजार से ज्यादा कैश निकालने पर आएगा OTP

दोस्तों, साल 2019 में बैंकिंग फ्रॉड से जुड़ी खबरें काफी ज्यादा सुनने को मिली किसी के बैंक अकाउंट से लाखों तो किसी के अकाउंट से करोड़ो रूपये गायब कर दिए गए| इसके अलावा ATM फ्रॉड का मामला भी काफी ज्यादा सामने आया| इन सब को ध्यान रखते हुए देश की सबसे बड़ी बैंक स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया (SBI) ने ATM मशीन से पैसे निकलने को लेकर एक सख्त कदम उठाया है तो चलिए उसके बारे में डिटेल में बात करते हैं|
SBI से 10 हजार से ज्यादा कैश निकालने पर आएगा OTP

हर साल बैंक ग्राहकों के साथ फ्रॉड का मामला बढ़ता ही जा रहा है इसपर लगाम लगाने के लिए SBI ने एक सख्त कदम उठाया है| अब देश की सार्वजनिक बैंक SBI ने अपने एटीएम से 10 हजार रूपये तक निकालने के लिए OTP यानि वन टाइम पासवर्ड जरुरी कर दिया है| SBI ने इस व्यवस्था को नए साल यानि 1 जनवरी 2020 से लागू कर दिया है और धीरे-धीरे SBI के सभी ATM में यह सुविधा एक्टिवेट कर दया जायेगा|

हालांकि, OPT की सिक्यूरिटी रात 8 बजे से लेकर सुबह 8 बजे तक आएगा यानि अगर आप रात 8 बजे से सुबह 8 बजे के बिच 10, 000 रूपये तक निकालते हैं तो अपने बैंक में रजिस्टर मोबाइल नंबर पर OTP आएगा और सुबह 8 बजे से रात 8 बजे तक 10, 000 रूपये तक निकालने पर कोई OTP आएगा| ऐसे में अगर आप रात में SBI एटीएम से पैसे निकालने के लिए जा रहे हैं तो आप अपने मोबाइल जरुर लेकर जायें|

Saturday, February 2, 2019

SBI में जिनका खाता है उनके लिए आई बुरी खबर, हुई बड़ी दुर्घटना

इंटरनेट की दुनिया में आए दिन डाटा लीक से संबधित घटनाएं देखने को मिल जाती हैं| लेकिन अब यह घटना बैंकिंग क्षेत्रों में भी देखने को मिल रही है| हाल में स्टेट बैंक आफ इंडिया के साथ ऐसी घटना घटी है, जिसके बारे में जानकर आप हैरान रह जायेंगे| आपको बेहद सावधान रहने की जरूरत है और अगर आप नेट बैंकिंग का इस्तेमाल करते हैं तो आप तुरंत अपने नेट बैंकिंग का पासवर्ड बदल लें क्योंकि SBI की एक बड़ी गलती के कारण लगभग लाखों ग्राहकों के खाते की जानकारी लीक हो चुकी है तथा ऐसे में खताधारकों के खाते में मौजूद धनराशि भी खतरे में हो सकती है|

हालांकि बैंक ने इस बारे में सफाई देते हुए कहा है कि खाता धारकों को डरने की कोई जरूरत नहीं है क्योंकि उन्होंने अपने सर्वर को सिक्योर कर लिया है| हाल ही में आई टेकक्रंच की एक रिपोर्ट के मुताबिक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया अपने सर्वर को सुरक्षित करना ही भूल गय था, जिसके वजह से कई लाख लोगों के खाते की जानकारियां लीक हो सकती थी| रिपोर्ट में यह भी दावा किया गया है कि इस बैंक ने अपने सर्वर को बिना पासवर्ड के ही छोड़ दिया था तथा इस वजह से कोई भी खाताधारकों की निजी जानकारियों को एक्सेस कर सकता है और अब तक तो यह भी संभव है कि खाताधारकों की जानकारियां भी लीक हो गई हो|

रिपोर्ट के मुताबिक SBI के मुंबई डाटा सेंटर के सर्वर में पासवर्ड लगा ही नहीं था और साथ ही यह भी दावा किया गया है स्टेट बैंक ऑफ इंडिया के क्विक डाटा में भी सेंध लग चुकी है| आपको बता दें कि इस सुविधा का उपयोग खाताधारक मिस्ड कॉल के जरिए अपने खाते से संबंधित जानकारियां लेने के लिए करते हैं| हालांकि इस रिपोर्ट में यह साफ नहीं हो पाया है कि स्टेट बैंक का सर्वर आखिरकार कितने दिनों तक बिना पासवर्ड के रहा है| इस पूरे मामले पर SBI की तरफ से जारी किए गए आधिकारिक बयान में ग्राहकों को पूरी तरह से निश्चिंत कर दिया गया है| बैंक ने बयान देते हुए कहा है कि उन्होंने अपने सर्वर को अब पूरी तरह से सुरक्षित कर लिया है तथा अब खाताधारकों को चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है|

Tuesday, December 11, 2018

बिना मोबाइल UPI के हुआ 6.8 लाख रूपये का फ्रॉड, हैरान हुए लोग

ATM और Netbanking के द्वारा पैसे निकालने के मामले आये दिन खबरों में आते ही रहता है इस बार कुछ ऐसा हुआ, जिसे आप भी यकीन नहीं करेंगे| आपको बता दें कि जिस शख्स के खाते से 6.8 लाख रुपये निकाले गए हैं उसके पास तो मोबाइल भी नहीं है| ऐसे में सवाल यह उठता है कि जब मोबाइल ही नहीं है तो यूपीआई ऐप एक्टिव कैसे हुआ, तो चलिए जानते हैं इसका पूरा मामला|

दरअसल, यह पूरा मामला यूपी के नोएडा का है| यहां मोहन लाल नाम के एक शख्स के बैंक खाते से 6.8 लाख रुपये यूपीआई ऐप की मदद से निकाले गए हैं| रिपोर्ट के मुताबिक पीड़ित शख्स का खाता स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में है| इस संबंध में मोहन लाल ने नोएडा के सेक्टर 20 के पुलिस थाने में शिकायत भी है की है जिसके बाद मामले को साइबर पुलिस के हवाले कर दिया गया है|

यहां बड़ा सवाल अभी भी यह है कि बिना मोबाइल नंबर का यूपीआई ऐप काम ही नहीं करता है, जबिक पीड़ित के पास मोबाइल ही नहीं है| ऐसे में यह सिम कार्ड स्वैपिंग का मामला लग रहा है| मामले को देखकर ऐसा लग रहा है कि मोहन लाल ने खाता खुलवाते समय अपने किसी जान-पहचान के शख्स का मोबाइल नंबर बैंक में दे दिया होगा|

ऐसे में यह भी हो सकता है कि जिसका मोबाइल नंबर को बैंक में दिया गया होगा, उसी ने यूपीआई एक्टिव करके पैसे निकाले होंगे या फिर जो मोबाइल नंबर बैंक में दिया गया होगा वह बंद हो गया होगा| उसके बाद किसी और ने उसी मोबाइल नंबर को एक्टिव कराया और फिर यूपीआई एक्टिव कर लिया| दरअसल किसी भी मोबाइल नंबर पर *99# डायल करके यूपीआई प्रोफाइल को एक्सेस किया जा सकता है|