Showing posts with label E-Sim Card. Show all posts
Showing posts with label E-Sim Card. Show all posts

Wednesday, April 8, 2020

अब आपको घर बैठे मिलेगा नया सिम कार्ड, ऐसे होगा नया नंबर एक्टिवेट

कोरोना वायरस के महामारी के वजह से जारी लॉक डाउन के बिच एक बड़ी खबर सामने आई है| अब स्मार्टफोन ग्राहकों को नया सिम कार्ड खरीदने या बदलने के लिए इसी भी टेलिकॉम शॉप पर नहीं जाना होगा| टेलिकॉम कंपनियों ने टेलिकॉम डिपार्टमेंट से ग्राहकों की वेरिफिकेशन प्रक्रिया को घर बैठे करने की मंजूरी मांगी है| ऐसे में टेलिकॉम डिपार्टमेंट घर बैठे वेरिफिकेशन की मंजूरी देती है तो टेलिकॉम कंपनियां नए ग्राहकों को घर बैठे जोड़ने की प्रक्रिया जारी रखेंगी|
सिम खरीदते समय घर बैठे होगा ग्राहकों का वेरिफिकेशन

अब ग्राहकों को घर बैठे सिम कार्ड डिलीवर होगा| टेलीकॉम कंपनियों ने टेलिकॉम डिपार्टमेंट से घर बैठे ग्राहकों का वेरिफिकेशन करने की मांग की है| ग्राहक वेरिफिकेशन की प्रक्रिया पूरी तरह से कॉन्टेक्ट लैस करने की मांग की गई है| ग्राहक को ऑनलाइन पोर्टल पर अपने दस्तावेज मुहैया कराने होंगे| दस्तावेज के आधार पर नया सिम कार्ड ग्राहक को उसके घर पर ही डिलीवर होगा|
ऐसे होगा नया नंबर एक्टिवेट

सिम कार्ड मिलने के बाद ग्राहक को अपना नंबर एक्टिवेट करना होगा| ऐप के जरिए ग्राहक की फोटो खींची जाएगी| दूसरे मोबाइल नंबर पर ओटीपी के जरिए सिम कार्ड एक्टिवेट होगा| लॉकडाउन के बाद टेलीकॉम सेवाओं की मांग बढ़ी है| लॉक डाउन के वजह से लोग घरों से काम कर रहे हैं| ग्राहकों को अलग-अलग कंपनी के सिम कार्ड की जरूरत है| मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी के लिए भी घर बैठे ही सिम कार्ड मिलेगा| टेलीकॉम कंपनियों के नए ग्राहकों का जुड़ना भी जारी रहेगा|

Tuesday, January 21, 2020

SIM चलाने वालों के लिए बुरी खबर, फिर से महंगे हो सकते हैं टैरिफ प्लान

दोस्तों, पुछले साल 2019 के अंतिम महीने में जिओ, एयरटेल और आईडिया-वोडाफोन ने अपने टैरिफ प्लान को 40 फीसदी तक महंगे कर दिया था, जिसके बाद अब टेलिकॉम ग्राहकों को ज्यादा पैसे देकर रिचार्ज करवाना पड़ रहा है| सभी टेलिकॉम कंपनियों ने अपने प्लान को इसलिए बढ़ाया क्योंकि एयरटेल और आईडिया-वोडाफोन को AGR का पेमेंट सरकार को चुकानी थी| लेकिन अब ऐसी खबर निकलकर आ रही है कि अब फिर से टेलिकॉम कंपनियां फिर से 25-30 फीसदी टैरिफ प्लान को महंगे करने वाली है|
फिर से बातें करना और भी हो सकता है महंगा

टेलिकॉम इंडस्ट्री के एग्जिक्यूटिव्स और ऐनालिस्ट्स का कहना है कि टेलिकॉम कंपनियां मोबाइल टैरिफ में 25-30 फीसदी का और इजाफा कर सकती हैं| एक्सपर्ट्स का ये भी कहना है कि कंपनियों के ऐवरेज रेवेन्यू पर यूजर (ARPU) में ज्यादा बढ़ोतरी नहीं हुई है| इसके साथ ही भारत में टेलिकॉम सर्विसेज़ पर सब्सक्राइबर्स का कुल खर्च अन्य देशों की तुलना में काफी कम है|

ऐसे में वोडाफोन-आइडिया और भारती एयरटेल को अजस्टेड ग्रॉस रेवेन्यू (AGR) की बकाया रकम काफी ज्यादा है| इन कंपनियों को अपनी फाइनेंशियल कंडीशन में सुधार लाने के लिए टैरिफ प्लान बढ़ाने होंगे| एक्सपर्ट्स ने ये भी कहा है कि आईडिया-वोडाफोन के लिए मुश्किलें और भी ज्यादा बढ़ने वाली है| ऐसी खबर है कि आईडिया-वोडाफोन जल्द अपना बिज़नेस बंद करने वाली है| अगर ऐसा होता है तो टेलिकॉम मार्केट में भारती एयरटेल और रिलायंस जियो ही बचेंगे|

Tuesday, June 18, 2019

2025 तक भारत में 25 फीसदी बढ़ जायेगा ई-सिम के यूजर्स की संख्या, जानिए इसके फायदे

आप में से कई ऐसे लोग होंगे, जो ई-सिम या इंबेडेड सिम के बारे में जानते होंगे लेकिन कई ऐसे भी लोग होंगे जिहें ई-सिम या इंबेडेड सिम के बारे में मालूम नहीं होगा| कोई बात नहीं आज हम आपको बताने वाले हैं कि ई-सिम कार्ड क्या है और इसके फायद के बारे के पूरी जानकरी|
ई-सिम क्या है ?

कमाल का है यह मोबाइल अर्निंग ऐप, मोबाइल से कमाई का है बेस्ट तरीका

ई-सिम एक ऐसा सिम कार्ड होता है जो आपको नजर नहीं आएगा| यह सिम कार्ड एक सॉफ्टवेयर के जरिए कंट्रोल होता है| ई-सिम भारत में फिलहाल जियो, वोडाफोन और एयरटेल के पास ही है| एपल वॉच सीरीज 4 में ई-सिम का सपोर्ट दिया गया था| इसके अलावा गूगल पिक्सल 3ए और आईफोन xr में भी ई-सिम का सपोर्ट है|
क्या है ई-सिम के फायदे

कमाल का है यह मोबाइल अर्निंग ऐप, मोबाइल से कमाई का है बेस्ट तरीका

ई-सिम का सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि आपको ऑपरेटर बदलने में बड़ी आसानी होती है| आप घर बैठे ही ऑनलाइन ऑपरेटर बदल सकते हैं, साथ ही आपको सिम कार्ड बदलना नहीं पड़ता है| इसमें बिना मोबाइल नंबर बदले मोबाइल नंबर पोर्टेबिलिटी की भी सुविधा है| इसका बड़ा फायदा यह है कि सिम कार्ड के खोने की कोई समस्या नहीं है| उदाहरण के तौर पर यदि आपका फोन खो भी जाए तो आप नए फोन में लॉगिन करके अपने ई-सिम का इस्तेमाल कर सकेंगे और पुराने फोन में मौजूद सिम को डी-एक्टिवेट हो जायेगा|
बढ़ता जा रहा है ई-सिम का बाज़ार


वैसे ई-सिम का बाजार भारत में अभी कुछ खास नहीं है लेकिन एक रिपोर्ट के मुताबिक 2025 तक भारत में ई-सिम यूजर्स की संख्या 25 फीसदी तक बढ़ सकती है और ई-सिम का बाजार 2023 तक 97.83 करोड़ डॉलर का हो जाएगा| फिलहाल ई-सिम का बाजार 25.38 करोड़ डॉलर का है| हालांकि ई-सिम का बाजार तभी तेजी से आगे बढ़ेगा जब मोबाइल निर्माता कंपनियां इसमें सहयोग करेंगे, क्योंकि सभी स्मार्टफोन में ई-सिम का इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है| मोबाइल निर्माता कंपनियों को ई-सिम सपोर्ट के साथ स्मार्टफोन बाजार में उतारने होंगे|