Tuesday, October 8, 2019

जियो ने पेश किया 90 दिनों वाला ऑफर, अब डेली डेटा लिमिट के झंझट से मिलेगा छुटकारा

टेलीकॉम क्षेत्र में रिलायंस जियो के आने के बाद से प्रतिस्पर्धा बढ़ गई है| एक समय पर कुछ ही टेलीकॉम कंपनियां सस्ते डेटा ऑफर्स उपलब्ध कराती थी लेकिन जियो के आने के बाद अन्य कंपनियां हद से ज्यादा सस्ते ऑफर्स पेश कर रही हैं| जियो के ऑफर केवल सस्ते ही नहीं बल्कि फायदों से भरपूर होते हैं, जिनमें ग्राहकों को अनलिमिटेड कॉलिंग और डेली डेटा का लाभ मिलता है| लेकिन आज हम जिस ऑफर के बारे में आपको बताने जा रहे हैं, उसमें आपको डेली डेटा लिमिट के झंझट से छुटकारा मिल जाएगा|
जियो का 90 दिनों वाला ऑफर

जियो के 90 दिनों वाले ऑफर में ग्राहकों को डेली डेटा लिमिट के झंझट से छुटकारा मिलता है| इसमें ग्राहकों को 90 दिनों की लम्बी वैधता के साथ 60 जीबी हाईस्पीड डेटा इस्तेमाल के लिए दिया जा रहा है| हालांकि, इस ऑफर में ग्राहकों को 60 जीबी डेटा ख़त्म कर लेने के बाद भी 64केबीपीएस की स्पीड से इंटरनेट मिलता रहेगा| ग्राहकों को इसमें अनलिमिटेड वॉयस कॉलिंग की सुविधा दी जा रही है|

दीवाली में मौके पर अपने चाहने वालों को दें यह काम की गैगेट्स

जियो ग्राहकों को इस ऑफर में अनलिमिटेड लोकल और एसटीडी वॉयस कॉलिंग की सुविधा दी जा रही है साथ ही इसमें 100 मैसेज डेली के दिए जाएंगे| जिन्हें लोकल और एसटीडी दोनों नम्बर पर इस्तेमाल कर सकते हैं| जियो ऐप्स के सब्सक्रिप्शन इस ऑफर में कॉम्प्लीमेट्री फ्री दिए जा रहे हैं| कीमत की बात करें तो इस ऑफर की कीमत जियो ने 999 रुपये रखी है, जिसमें ग्राहकों को डेली डेटा के झंझट से छुटकारा मिल जाता है|

Monday, October 7, 2019

हद से भी ज्यादा मोबाइल का इस्तेमाल करने वाले सावधान, हो सकती है यह गंभीर बीमारी

आज के समय लोग दिनभर में घंटों तक स्मार्टफोन या लैपटॉप जैसे गैगेट्स चलाते रहते हैं, इसलिए वजह से लोगों को कई सारी परेशानियों का सामना करना पड़ता है| काफी ज्यादा समय तक स्मार्टफोन या लैपटॉप जैसे गैगेट्स चलाते रहने से लोगों में कमर दर्द जैसी समस्या का सामना करना पड़ रहा है| इसके अलावा इन सब डिवाइस से निकलने वाली किरने आँखों में भी नुकसान आ रहा है| सफदरजंग अस्पताल के कम्युनिटी मेडिसन विभाग ने इस जानकारी को शेयर किया है| वहीं, डॉक्टर्स ने इस रिसर्च में पाया है कि इस 60 फीसदी से ज्यादा मोबाइल यूजर्स मस्कुलोस्केल्टन डिसऑर्डर से पीडित हैं|

गर्दन में होता है दर्द :- शरीर के जो़ड़ों में होने वाले दर्द को मस्कुलोस्केल्टन डिसऑर्डर कहा जाता है| वहीं, डॉक्टर्स ने कहा है कि हमने यह रिसर्च 200 से ज्यादा लोगों पर की हैं| इस शौध में 54 फीसदी लोगों की कमर में दर्द देखने को मिला है| वहीं, इन आकंड़ों में सबसे ज्यादा कंप्यूटर और फोन का उपयोग करने वाले यूजर्स शामिल हैं| कमर में दर्द लंबे समय तक एक जगह गलत तरीके से बैठने के कारण होता है|

कंप्यूटर, लैपटॉप और स्मार्टफोन का ज्यादा इस्तेमाल करने से कमर के साथ गर्दन में तेज दर्द होता है| डॉक्टर्स का मानना है कि लोगों को गर्दन में होने वाले दर्द को अंदेखा नहीं करना चाहिए, क्योंकि इससे उनकी स्पाइन कॉलम पर बुरा प्रभाव पड़ता है साथ ही लोगों को हाथ और पैरों में कमजोरी भी महसूस होती है|
इस तरीके के उपाय से करें बचाव

1. आंखों से कंप्यूटर या लैपटॉप का डिस्प्ले 80 सेंटीमीटर दूर होना चाहिए|
2. लंबे समय तक एक जगह ना बैठे, 20 मिनट बाद एक ब्रेक लेकर जरूर चलें|
3. कमर या गर्दन में दर्द होने के कुछ ही दिनों में डॉक्टर को जरूर दिखाएं|
4. स्मार्टफोन को कान और कंधे के बीच में रखकर बात ना करें।

अब घर बैठे खुद बनाएं मात्र 200 रूपए में अपना ड्राइविंग लाइसेंस, जानिए कैसे ?

भारत में बहुत सारे ऐसे लोग मौजूद हैं, जिनके पास ड्राइविंग लाइसेंस नहीं है| इसी बात को ध्यान में रखते हुए उन लोगों के लिए मोदी सरकार ने खुशखबरी दी है| दरअसल मोदी सरकार, ड्राइविंग लाइसेंस बनाने के नियमों को लगातार आसान बनाती जा रही है ऐसे में जो लोग ड्राइविंग लाइसेंस बनवाना चाहते है| वे लोग चाहे तो अपना ड्राइविंग लाइसेंस घर बैठे खुद मात्र 200 रूपए में बना सकते है| जहाँ पहले ड्राइविंग लाइसेंस बनाने के लिए कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है| लेकिन अब इन समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा|

कैसे करें आवेदन :- ड्राइविंग लाइसेंस घर बैठे बनवाने के लिए आपको परिवहन जीओवी डॉट इन (parivahan.gov.in) की वेबसाइट पर जाना होगा और उस वेबसाइट पर आपको ऑनलाइन अप्लाई ड्राइविंग लाइसेंस का ऑप्शन दिखाई देगा| उस पर क्लिक करते ही आप एक फॉर्म पर पहुंच जाएंगे| इसके बाद आपको वहाँ पर अपनी सारी डिटेल भरनी होगी| लेकिन एक बात का ध्यान रखे कि सारी जानकारी सही सही भरनी होगी|

बता दे कि आपके पास आधार कार्ड का होना बहुत जरूरी है जैसे ही आप अपना फॉर्म भर लेते है| उसके बाद आपको का 200 ऑनलाइन पेमेंट करना होगा, जिसके बाद आपके फोन नंबर पर आरटीओ की तरफ से एक कन्फ़र्मेशन मैसेज भेजा जायेगा और उसके बाद आपको आरटीओ की तरफ से एक तारीख का भी मैसेज प्राप्त होगा और आपको उस तारीख को जा कर ड्राइविंग टेस्ट देना होगा| टेस्ट देने के 15 दिन के अन्दर आपके पते पर आपका ड्राइविंग लाइसेंस भेज दिया जायेगा|
नाबालिक भी बनवा सकते हैं ड्राइविंग लाइसेंस

जिनकी उम्र 16 वर्ष की है, और जिनके पास ड्राइविंग लाइसेंस नही है| वे लोग भी अब इलेक्ट्रॉनिक बाइक चलाने के लिए अपना लाइसेंस बनवा सकते हैं|
अनपढ़ लोग भी बनवा सकते है ड्राइविंग लाइसेंस

केंद्रीय मोटर यान नियम-1989 के नियम 8 के तहत ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए आवेदक को कम से कम आठवीं पास होना जरूरी था| लेकिन अब सड़क परिवहन मंत्रालय ने इस नियम में बदलाव कर दिया है| मंत्रालय ने नोटिफिकेशन में कहा है कि आठवें संशोधन के जरिए केंद्रीय मोटर यान नियम-1989 के नियम 8 को हटा दिया गया है यानि की अब अनपढ़ लोग भी ड्राइविंग लाइसेंस बनवा सकते है|

PUBG खेलने वालो के लिए आई बुरी खबर, किया यह काम हो जायेंगे बैन

आज के समय में PUBG गेम इतना ज्यादा फेमस मोबाइल गेम है कि लोग इस गेम को खेलने के लिए अपनी जान तक कुर्बान कर देते हैं| इसलिए हम आपको PUBG गेम से जुड़ी बातें करने वाले हैं, जिसे जानकर आपके होश उड़ जायेंगे| लोकप्रिय मोबाइल गेम PUBG में अगर आप चिकन डिनर जितने के लिए कोई ऐसा वैसा जुगाड़ (PUBG Hack या PUBG Cheating)लगाते हैं तो आपके लिए बुरी खबर है| ऐसा इसलिए क्योंकि PUBG ने गेम को ख़त्म करने के लिए एक अहम् कदम उठाने का फैसला लिया है|

बता दें कि PUBG अपने उन खिलाड़ियों पर 10 साल का प्रतिबन्ध लगाने की घोषणा किया है, जो PUBG गेम के पोलिसी का उन्लंघन करता करता पाया जायेगा| कंपनी ने अपने बयान में यह कहा कि थर्ड पर्टी ऐप या हैक करने वाले खिलाड़ियों पर 10 सालों तक बैन लगा दिया जायेगा| क्योंकि हैक करके खिलाड़ियों को जितने के वजह से बिना वजह लाभ मिल जाता है| खिलाड़ियों के पास चीटिंग करने वाले गेमर के खिलाफ इन-गेम रिपोर्टिंग प्रोसेस के जरिये जवाबदेही टीम को रिपोर्ट करने का आप्शन दिया जायेगा|

यह कन्फर्म करने के लिए कि ऐसे खिलाड़ियों के खिलाफ सख्त कदम उठाया जायेगा| इतना ही नहीं जो लोग हैक करने या चीटिंग करने गेम जीतते हैं उनका नाम भी सार्वजनिक कर दिया जायेगा| PUBG मोबाइल गेम महीने के आधार पर समस्याओं का समाधान करता है, ताकि उनके खिलाड़ियों को एक साफ-सुथरा गेम का अनुभव मिल सके| कंपनी ने अब तक करीब 3500 से ज्यादा लोगोको बैन कर दिया है| क्या आप भी चीटिंग करके PUBG मोबाइल गेम खेलते हैं अगर खेलते हैं तो सावधान रहें|

Sunday, October 6, 2019

2000 रुपए के नोट को लेकर RBI का बड़ा फैसला, तुरंत जानें

मोदी सरकार द्वारा देशभर में नए नोट शुरू किये गए, जिसमें 2000 रुपए का बड़ा नोट भी शामिल है| लेकिन अब रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया (RBI) ने 2000 रुपए के नोट को लेकर बड़ा फैसला किया है, जो की एसबीआई एटीएम ग्राहकों के लिए जरूरी सूचना है| इसके बारे में आपको जान लेना बेहद जरूरी है| दरअसल, अब SBI के एटीएम से 2000 रुपए का नोट नहीं निकाल पाएंगे|
नहीं निकाल पाएंगे 2 हजार के नोट

RBI के फैसले के बाद अब एसबीआई ग्राहक एटीएम से 2000 के नोट नहीं निकाल पाएंगे| भारतीय रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया के संकेत के बाद, SBI ने अपने एटीएम से बड़े नोट कैसेट निकालने शुरू कर दिए हैं| इस फैसले के बाद से कई जिलों के लगभग सभी एटीएम से बड़े नोट कैसेट हटा दिए गए हैं| इसके अलावा 500 रुपए के नोट कैसेट को भी हटाने की तैयारी की जा रही है|

दरअसल, एटीएम से बड़े नोट कैसेट हटाने के पीछे का कारण छोटे नोटों को बढ़ावा देना है| इसके बाद एटीएम में केवल 100 और 200 रुपए के नोट ही रहेंगे. स्टेट बैंक ऑफ़ उन्नाव के प्रबंधक ने बताया की तकरीबन 1 साल से SBI के एटीएम में 2000 रुपए के नोट नहीं चल रहे हैं| इसके अलावा अब एटीएम मशीनों में रखे 2 हजार के नोट के कैसेट को हटाने का काम किया जा रहा है|

अब 130 रुपये में देख सकेंगे 150 टीवी चैनल, जानकर खुश हो जायेंगे आप

अगर आप टीवी देखने को शौक़ीन नहीं तो आपके लिए कुछ खास सुविधा आने वाली है, जिसके तहत दर्शक मात्र 130 रुपये में ही 150 चैनल देख सकेंगे| दरअसल, 130 रुपये के NCF चार्ज में पहले के अपेक्षा ज्यादा चैनल देखने को मिलेंगे| नए टैरिफ प्लान के नियमों को लागु होने के बाद ज्यादातर ग्राहकों की शिकायत थी कि उसके लिए अब टीवी देखने पहले के अपेक्षा महंगी हो गया है| ट्राई इस कमी को ठीक करने के लिए लगातार कोशिश कर रहा है| लेकिन आल इंडिया डिजिटल केबल फेडरेशन ने ग्राहकों को इससे राहत दी है|

बता दें कि हाल में हुई एक बैठक में आल इंडिया डिजिटल केबल फेडरेशन ने अपने सब्सक्राइबर कास्ट को कम करने के लिए कमियों की आवश्यक बदलाव कर दिया है| फेडरेशन ने तय किया है कि अब वह ग्राहकों को 130 रुपये में NCF चार्ज में 150 स्टैंडर्ड डेफिनिशन (HD) एसएम दिखायेगा, जो पहले मात्र 100 था| फेडरेशन के प्रेसिडेंट एस.एन. शर्मा ने कहा कि उन्होंने फेडरेशन के मेंबर्स के साथ इस बारे में काफी चर्चा किया|

इस चर्चा में 130 रुपये के नेटवर्क कैपिसिटी फीस में 150 HD चैनल दिखाने का फैसला किया गया है| इससे पहले जो सब्सक्राइबर 100 से ज्यादा चैनल देखना चाहते थेउन्हें हर 25 चैनल के लिए अलग से 20 रुपये देने पड़ते थे| इस हिसाब से अगर वे 150 चैनल देखना चाहते हैं तो उन्हें NCF चार्ज के तौर पर GST के साथ 170 रुपये का भुगतान करना होता है| फेडरेशन द्वारा किया गया है परिवर्तन अभी तक मात्र केबल टीवी सब्सक्राइबर के लिए लागु है|वैसे DTH यूजर्स को इस बदलाव का लाभ उठाने के लिए थोड़ा इंतज़ार करना होगा|

बता दें कि ट्राई ने इस साल DTH और केबल नेटवर्क के लिए नए टैरिफ की घोषणा की थी| इसके बाद से सब्सक्राइबर का मंथली बिल पहले के मुकाबले ज्यादा हो गया है| नए टैरिफ नियमों को ट्राई ने सब्सक्राइबर के टीवी देखने के बिल को कम करने के लिए लागु किया था लेकिन ऐसा नहीं हो सका| अब देखना यह होगा कि DTH ऑपरेटर्स को यह सुविधा कब तक मिलेगी क्योंकि नए नियमों से ज्यादातर सभी दर्शक परेशान हैं